ads

जब ट्रेन में सीट पाने के लिए कुछ ऐसा कहती थीं विधा बालन, तुरंत खड़े हो जाते थे लोग

नई दिल्ली: अपने पैशन के कारण फिल्मी दुनिया में कदम रखने वाली विद्या बालन (Vidya Balan) आज बॉलीवुड की सफल अभिनेत्रियों में शामिल हैं। विद्या ने फिल्मों में अपने संजीदा अभिनय से लोगों के बीच खास पहचान बनाई है। आज फिल्म इंडस्ट्री हर कोई उन्हें अपनी फिल्म में लेने को बेकरार रहता है। किसी भी महिला प्रधान फिल्म के लिए निर्देशक की पहली पसंद हैं। ऐसे में आज हम आपको विद्या के संघर्ष के दिनों से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा बता रहे हैं। जिसके बारे में खुद विद्या ने बताया था।

ट्रेन में करती थीं एक्टिंग

इसके अलावा विद्या बालन ने बताया था कि मैं जब शुरुआत में फिल्मों में स्ट्रगल कर रही थीं, उस दौरान मैं ट्रेन में सफर करते हुए थक जाती थीं तो सीट पाने के लिए कई बार प्रेग्नेंट होने की एक्टिंग करती थीं। जिसके बाद उन्हें अक्सर सीट मिल जाया करती थी।

आपको बता दें कि शुरूआत में विद्या बालन ने कई टेलीविजन एड में काम किया। 2003 में विद्या बालन ने बंगाली फिल्म 'भालो थेको' में लीड रोल प्ले किया था। इसक बाद साल 2005 में फिल्म 'परिणिता' ने विद्या बालन की जिंदगी बदल दी और करियर में विद्या ने बॉलीवुड में अपनी पकड़ मजबूत कर ली। इसके बाद फिल्म 'भूल भुलैया' से लेकर 'द डर्टी पिक्चर' के बोल्ड कैरेक्टर तक या फिर 'कहानी' की दमदार अदाकार तक विद्या ने अपने हर रोल में जान भर दी।

यह भी पढ़ें: एकता कपूर की दिवाली पार्टी में पहुंचे कई सितारे, लेकिन सलमान और हिना खान की एंट्री पर मचा हंगामा



Source जब ट्रेन में सीट पाने के लिए कुछ ऐसा कहती थीं विधा बालन, तुरंत खड़े हो जाते थे लोग
https://ift.tt/2ZWGjCs

Post a Comment

0 Comments