ads

बड़े पर्दे पर विलेन बनकर हीरो की भी छुट्टी कर देते थे प्राण, आखिरी दिनों में हो गई थी ऐसी हालत

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक ऐसा जगत है जिसने कई दिग्गज कलाकारों से लोगों को रुबरु करवा। एक से बढ़कर एक अभिनेता और अभिनेत्रियों ने अपनी कला से अपनी पहचान बनाई। हर कोई अपने एक अलग अंदाज के लिए आज भी जाना जाता है। ऐसे में 60 से लेकर 90 तक दशक के कई कलाकार इस लिस्ट में शामिल है जो बेशक आज दुनिया में हैं, लेकिन उनका काम आज भी लोगों के दिलों में जिंदा है। इनमें हीरो, हीरोइन से लेकर विलेन तक की भूमिका निभाने वाले शामिल हैं। इन्ही में से एक हैं दिग्गज अभिनेता प्राण।

अभिनेता का पाकिस्तान से अपनी पत्नी और बेटे संग भारत आए थे। वैसे उनका असली नाम किशन सिकंद है। बताया जाता है कि प्राण असल में एक फोटोग्राफर बनना चाहते थे। लेकिन उन्होंने एक्टिंग में अपना करियर बनाया। आज प्राण साहब की पुण्यतिथि है। इस मौके पर आपको उनसे जुड़ी कुछ खास बातें बताते हैं।

विलेन बनकर प्राण ने जीता दिल

प्राण ने 1942 में बनी फिल्म खानदान से बॉलीवुड में कदम रखा था। जिसके बाद उनका फिल्मी करियर शुरू हो गया। उन्होंने 22 फिल्मों में बतौर विलेन की भूमिका निभाई थी। फिल्मों में नेगेटिव रोल्स कर प्राण ने खूंखार विलेन का टैग अपने नाम किया। प्राण वो कलाकार हैं जिन्होंने हीरो बनकर ही लोकप्रियता होने की गलतफहमी को लोगों के दिलों से उतारा। प्राण ने विलेन की भूमिका निभाकर खूब वाहवाही बंटोरी। खास बात ये थी कि विलेन का किरदार निभा रहे प्राण को प्रोड्यूर्स हीरो से भी ज्यादा फीस देते थे।

यह भी पढ़ें- हिंदी सिनेमा जगत के सशक्त खलनायक थे प्राण

'जंजीर' के लिए सुझाया था अमिताभ बच्चन का नाम

फिल्म 'जंजीर' में एक्टर अमिताभ बच्चन संग प्राण ने काम किया था। फिल्म में प्राण के किरदार 'शेरखान' ने लोगों का दिल जीत लिया था। बताया जाता है कि फिल्म 'जंजीर' में अमिताभ बच्चन का नाम विजय प्राण ने ही निर्देशक प्रकाश मेहरा को सुझाया था। फिल्म 'जंजीर' अमिताभ बच्चन की वो फिल्म थी। जिसने उनका करियर पूरा बदल कर रखा दिया।

फिल्म 'जंजीर' ने अमिताभ बच्चन के करियर को रातोंरात सांतवे आसमान पर पहुंचा दिया था। बताया जाता है कि इस फिल्म को पहले देव आनंद और धर्मेंद्र को ऑफर की गई थी लेकिन दोनों ने ही फिल्म को करने से मना कर दिया था। जंजीर के बाद प्राण ने अमिताभ बच्चन संग दोस्ताना, नसीब, कालिया, शराबी और अमर अकबर एंथनी जैसी बड़ी फिल्मों में काम किया।

 

यह भी पढ़ें- खलनायक की भूमिका निभाने वाले Pran असल जिंदगी में थे काफी दयालु, 1 रुपए की फीस में करते थे फिल्मों में काम

प्राण को उनकी एक्टिंग के लिए पुरस्कार से नवाजा गया

प्राण की बेहतरीन फिल्मों के लिए उन्हें तीन बार फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के पुरस्कार से तीन बार नवाज़ा गया। वहीं साल 1997 में प्राण साहब को फिल्मफेयर लाइफ टाइम अचीवमेंट खिताब से भी सम्मानित किया गया। साल 2001 में अभिनेता को भारत सरकार के पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से भी नवाजा। अफने फिल्मी करियर में प्राण ने लगभग 350 से भी ज्यादा फिल्में की और खूब नाम और शोहरत कमाई।

प्राण को देख डर गई थीं दोस्त की बहन

बड़े पर्दे पर खतरनाक विलेन की भूमिका निभाते हुए लोगों उन्हें असल जिंदगी में भी वही समझने लगे थे। लोगों को लगता था कि प्राण जैसे बड़े पर्दे पर दिखाई देते हैं। वो असल जिंदगी में भी वैसे ही हैं। बताया जाता है कि एक बार प्राण दिल्ली अपने किसी दोस्त के घर चाय पीने गए थे। जब प्राण के दोस्त की बहन कॉलेज से वापस आई तो प्राण को घर पर देख काफी हैारन हो गईं। चाय पीने के बाद प्राण वापस अपने होटल लौट गए।

जब उनके दोस्त ने उन्हें फोन किया तो बताया कि उनकी बहन कह रही थी कि ऐसे बदमाश और गुंडे आदमी को घर लेकर क्यों आते हो? तब प्राण को पता चला कि लोग उन्हें रियल लाइफ में भी विलेन ही समझते हैं। आपको बता दें हीरो ने बताया था कि पेड के पीछे छुपकर उन्हें रोमांस करना बिल्कुल पसंद नहीं आता है।

हार्ट अटैक से हुई अभिनेता का निधन

प्राण साहब अंतिम दिनों में काफी कमजोर हो चले थे। उनके पैर कपाने लगे थे। जिसकी वजह से 1997 में ही वो व्हीएल चेयर पर अपनी जिंदगी गुज़राने लगे। उम्र और वक्त के साथ प्राण कमजोर पड़ने लगे और वो बीमार रहने लगे। साल 2013 में प्राण साहब ने 93 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। हार्ट अटैक की वजह से प्राण साहब का देहांत हो गया था। बताया जाता है कि प्राण साहब लोगों की खूब मदद किया करते थे। एक बार उन्होंने अमिताभ बच्चन और राज कपूर की भी मदद की थी।



Source बड़े पर्दे पर विलेन बनकर हीरो की भी छुट्टी कर देते थे प्राण, आखिरी दिनों में हो गई थी ऐसी हालत
https://ift.tt/3e6mb4q

Post a Comment

0 Comments