ads

मां-बाप की मौत के बाद घर-घर जाकर अरशद वारसी बेचते थे मेकअप, जानें कैसे बनें स्टार

नई दिल्ली। मुंबई मायानगरी में रोज़ाना कई लोग अपनी आंखों में बड़ा स्टार बनने का सपना लेकर आते हैं, लेकिन जरूरी नहीं है कि हर कोई अपना सपना पूरा कर पाए। जिन भी लोगों के सिरों पर स्टार्स का ताज सजा हुआ है। उसके पीछे छुपी है उनके माता-पिता का स्ट्रगल और उनके खून-पसीने की मेहनत। आज हम आपको एक ऐसे ही अभिनेता की कहानी बताने जा रहे हैं। जिसे हमने अक्सर बड़े पर्दे पर कॉमेडी से लोगों को खूब हंसाते हुए देखा हुए हैं। इंडस्ट्री में वह कोरियोग्राफ के रुप में और फिल्म 'मुन्नाभाई' में सर्किट का किरदार निभाकर वह अपने फैंस को अपना दीवाना बना चुके हैं।

Arshad Warsi

बचपन में ही हो गई थी माता-पिता की मृत्यु

अभिनेता और कोरियोग्राफर अरशद वारसी मुंबई में ही जन्मे हैं। महज 14 साल की उम्र में ही एक्टर के माता की मृत्यु हो गई थी। बचपन में ही माता-पिता को खो देने के बाद अरशद वारसी की जिंदगी और भी खराब हो गई थी। अरशद के पास घर चलाने और खुद का पेट पालने तक के पैसे नहीं हुआ करते थे।

यह भी पढ़ें- Sharukh की फोटो देख Arshad Warsi बोलें- 'कोई भी आदमी Gay बन जाए' , यूजर्स बोलें, कंट्रोल करो फीलिंग्स

Arsad Warsi

17 साल की उम्र में करने लगे थे काम

आर्थिक तंगी के चलते अरशद वारसी ने 10वीं की पढ़ाई छोड़ काम करना शुरू कर दिया। 17 साल की उम्र में अरशद मेकअप प्रोडक्ट बेचने का काम करने लगे थे। वह घर-घर जाते और लिपस्टिक और नेल पॉलिश बेचा करते थे। इसके बाद उन्होंने एक फोटो लैब में काम करना शुरू कर दिया। काम करते हुए इसी के साथ अरशद की रूचि डांस की ओर ज्यादा बढ़ने लगी।

Arsad Warsi

डांस ग्रुप किया जॉइन

अरशद वारसी ने काम के साथ-साथ अपनी कला को निखारने के लिए अकबर सामी के डांस ग्रुप को ज्वाइन किया। जिसके बाद वहां उन्होंने डांस सीखा और फिर डांस के हुनर के साथ प्रतियोगिता मॉडर्न जैज कैटेगरी में हिस्सा लेकर चौथा नंबर हासिल किया। बस यहां से अरशद के करियर की गाड़ी चल पड़ी। सन् 1992 में उन्होंने लंदन में रही डांस वर्ल्ड प्रतियोगिता जो हिस्सा लिया। इसके बाद से ही अरशद ने अपना खुद का डांस स्टूडियो खोल लिया।

Arsad Warsi

बॉलीवुड की सुपरहिट फिल्म में डांस किया कोरियोग्राफ

साल 1993 में अरशद को एक बहुत बड़ा मौका मिला। जिसमें उन्हें बॉलीवुड की फिल्म में डांस कोरियग्राफ करने था। फिल्म का नाम था 'रूप की रानी चोरों का राजा'। इस फिल्म में दिवंगत एक्ट्रेस श्रीदेवी और एक्टर अनिल कपूर मुख्य भूमिका में नज़र आए थे। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा प्रदर्शन किया। साथ ही फिल्म के साथ-साथ अरशद वारसी का नाम भी खूब मशहूर हुआ।

यह भी पढ़ें- अरशद वारसी ने उड़ाया पाकिस्तान का मजाक, वीडियो शेयर कर लिखा- 'पाक ने भी लॉन्च किया रॉकेट'

Arsad Warsi

कॉमेडी फिल्म्स में कमाया नाम

वैसे आपको बता दें बड़े पर्दे के साथ-साथ अरशद थिएटर में भी अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए नज़र आते हैं। लेकिन अरशद अपनी कॉमिक टाइमिंग की वजह से भी इंडस्ट्री में काफी पॉपुलर हैं। उन्होंने कॉमेडी फिल्म मुन्नाभाई सीरीज़, हलचल, कुछ मीठी हो जाए, गोलमाल सीरीज़ और टोटल धमाल में दिखाई दिए। जिससे उन्हें खूब फेम मिला।



Source मां-बाप की मौत के बाद घर-घर जाकर अरशद वारसी बेचते थे मेकअप, जानें कैसे बनें स्टार
https://ift.tt/2Qip8pr

Post a Comment

0 Comments